वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस : vaishvik pres svatantrata divas kya hai

दोस्तों नमस्ते आप सभी को 3 मई वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएँ 

वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस(Press freedom day),vaishvik pres svatantrata divas kya hai? विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस क्या है?(What is World Press Freedom Day?)

आज पूरी दुनिया में 3 मई यह दिन ‘Press freedom day’के रूप में मनाया जाता है. विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस दुनिया के सभी देशों में सरकारों, शासकों और राजाओं को प्रेस स्वतंत्रता के महत्व पर जोर देने के लिए मनाया जाता है. यूनेस्को ने 3 मई, 1993 को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में मान्यता दी है. Structures Annuity Settlement

वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस : vaishvik pres svatantrata divas kya hai

Car Insurance Quotes Colorado

भारत के संदर्भ में, पत्रकारिता एक दिन की बात नहीं है, लेकिन इसका एक लंबा इतिहास है. प्रेस का आविष्कार पुनर्जागरण के लिए एक शक्तिशाली हथियार के रूप में किया गया था. भारत में, स्वतंत्रता संग्राम में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करते हुए, प्रेस ने गुलामी के दिनों को मिटाने की पूरी कोशिश की है.

पत्रकारों, लेखकों, कवियों और रचनाकारों ने कलम और कागज के माध्यम से स्वतंत्रता की आग को फैलाया. प्रेस की स्वतंत्रता को लेकर आज कई सवाल उठ रहे हैं. आज पत्रकारों और पत्रकारिता के बारे में आम आदमी की क्या राय है? क्या भारत में पत्रकारिता एक नया मोड़ ले रही है? सरकार प्रेस की स्वतंत्रता की रक्षा करने की कोशिश कर रही है? क्या सच में आवाज उठाना लोकतंत्र में मौत को चुनौती देता है? ये कुछ ऐसे सवाल हैं जो आज हर किसी के मन में उठ रहे हैं. लोकतंत्र के मूल्यों की रक्षा और उन्हें बहाल करने में मीडिया एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. Annuity Settlements

यह भी पढ़े :

वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस की परिभाषा : Definition of global press freedom day

भारत में प्रेस की स्वतंत्रता भारतीय संविधान के अनुच्छेद 19 में भारतीयों को दी गई अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार द्वारा सुनिश्चित की गई है. 3 मई को, संयुक्त राष्ट्र की महासभा द्वारा विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस को विश्व स्तर पर प्रेस की स्वतंत्रता का सम्मान करने के लिए घोषित किया गया था, जिसे विश्व प्रेस दिवस के रूप में भी जाना जाता है.

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस हर साल 3 मई को दुनिया भर में मनाया जाता है. इस दिन की अवधारणा हर साल अलग है. संयुक्त राष्ट्र ने 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में घोषित किया है. तब से यह दिवस कई वर्षों से मनाया जा रहा है. इस दिन का महत्व पत्रकारिता, पत्रकारिता के महत्व और इसके बारे में जागरूकता पैदा करना है. साथ ही, इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य दुनिया की हर सरकार को पत्रकारिता और मीडिया की स्वतंत्रता की रक्षा और संरक्षण के लिए याद दिलाना है. मीडिया की स्वतंत्रता की रक्षा के लिए सरकार को पत्रकारों की रक्षा करनी चाहिए. इस दिवस का मुख्य उद्देश्य सरकार को इस बारे में अवगत कराना है.

वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस का उद्देश्य क्या है?: What is the purpose of global press freedom day?

दुनिया भर के देश पत्रकारों और मीडिया प्रतिनिधियों पर अत्याचार करते हैं. यदि मीडिया सरकार के संचालन में नहीं चलता है, तो समूह और उसके सदस्यों को विभिन्न तरीकों से परेशानी में डाल दिया जाता है. परेशान किया जाता है. इसके लिए, वित्तीय संकट लाने के लिए सचेत रूप से विभिन्न आरोप लगाए जाते हैं. जुर्माना, आयकर छापे, विज्ञापनदाताओं पर अप्रत्यक्ष प्रतिबंधों का उपयोग विभिन्न कारणों से उस समूह की विश्वसनीयता को कम करने के लिए किया जाता है.

साथ ही, समूह के संपादकों, प्रकाशकों और पत्रकारों को लगातार डराया, धमकाया जाता है. उन्हें यह देखने के लिए गला घोंटा गया है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के सभी रास्ते कैसे बंद होंगे. ये प्रकार लोकतंत्र और नागरिक स्वतंत्रता के रास्ते में बड़ी बाधाएं हैं. इसलिए, इन सभी बातों पर विचार करते हुए, वैश्विक पत्रकारिता की स्वतंत्रता को पूरे विश्व में महत्वपूर्ण माना जाता है. यही कारण है कि विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पूरे विश्व में मनाया जाता है. Dayton Freight Lines

यह भी पढ़े :

प्रेस स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाया जाता है?:How is Press Independence Day celebrated?

इस अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वालों को सम्मानित किया जाता है. प्रेस की स्वतंत्रता पर स्कूलों, कॉलेजों, सरकारी संस्थानों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में वाद-विवाद, निबंध लेखन प्रतियोगिता और क्विज़ आयोजित किए जाते हैं। लोगों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार के बारे में जागरूक किया जाता है. इस अवसर पर, यूनेस्को द्वारा भी पुरस्कार दिए जाते हैं.Hard drive Data Recovery Services

प्रेस स्वतंत्रता दिवस का इतिहास:History of press freedom day

1991 में, अफ्रीका में पत्रकारों ने प्रेस की स्वतंत्रता के लिए एक विशेष अभियान चलाया. नामीबिया की राजधानी विंडहोक में 3 मई, 1991 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई थी. इस सम्मेलन में विंडहोक की घोषणा प्रकाशित की गई थी. अगले वर्ष से (1992 से), 3 मई प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया गया. 1993 में, यूनेस्को ने विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाने की स्वीकृति दी. 1997 से हर साल 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर यूनेस्को द्वारा गिलर्मो कानो विश्व प्रेस स्वतंत्रता पुरस्कार भी प्रदान किया जाता है. यह पुरस्कार किसी व्यक्ति या संस्था को दिया जाता है जिसने प्रेस की स्वतंत्रता के लिए उल्लेखनीय कार्य किया है.

3 मई की ब्रेकिंग न्यूज़ क्या है? What is the breaking news of May 3?
  • कुल सूर्य ग्रहण  3 मई 1715 में उत्तरी यूरोप और उत्तरी एशिया में देखा गया था.
  • वाशिंगटन शहर (DC) की स्थापना  3 मई 1802 में हुई थी.
  • दादा साहब फाल्के द्वारा बनाई गई “राजा हरिश्चंद्र”, 3 मई, 1913 को मुंबई में कोरोनेशन टॉकीज में दिखाई गई, जिसमें पहली भारतीय मूक टेपेस्ट्री प्रदर्शित की गई थी.
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने 3 मई 1939 को “ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक” की स्थापना की.
  • इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (INTUC) की स्थापना 3 मई 1947 को हुई थी
  • 3 मई 1999 को एडविन जस्कुलस्की (96 वर्ष) ने 24.04 सेकंड में 100 मीटर दौड़ पूरा करने का विश्व रिकॉर्ड बनाया.How to Donate A Car in California

यह भी पढ़े:

Postscript: वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस (vaishvik pres svatantrata divas kya hai) 

Post Name: वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता दिवस : vaishvik pres svatantrata divas kya hai

Description: 3 मई क्यों मनाते है. 3 मई के दिन घटित घटनाओं की जानकारी दी गई है. इस लेख में मई माह की 1 तारीख से लेकर 30 तारिक तक के घटनाओं की GK जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे.GK जानकारी हमारे लिए महाराष्ट्र लोगसेवा आयोग (MPSC) बैंकिंग, तलाठी, पुलिस भर्ती, ग्रामसेवक, रेलवे भर्ती, ग्रामसेवक आदि exam के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हो सकती है.

Author: शीतल

Leave a Reply

error: Content is protected !!