Forensic Science में Great scientist kaise bane (future/career)

forensic science me great scientist kaise bane?:फोरेंसिक विज्ञान में महान वैज्ञानिक कैसे बने?, Forensic Science future / career kaise banaye?:फॉरेंसिक साइंस भविष्य / करियर कैसे बनाये?आदि से संबंधित जानकारी के लिए पढ़ते रहिय यह लेख…

फोरेंसिक विज्ञान में कई उत्कृष्ट अवसर हैं, बारहवीं के बाद करियर बना सकते हैं. पहचानिए क्या है फॉरेंसिक साइंस, कैसे बने इस क्षेत्र में साइंटिस्ट, सच्चा समाज सेवक बनने के लिए फोरेंसिस साइंस में बनाएं करियर. विज्ञान का अध्ययन करने में रुचि रखते हैं, तो विश्वास करें कि आप फोरेंसिक विज्ञान में अपना करियर बना सकते हैं. Great scientist kaise bane future / career

 Forensic Science में Great scientist kaise bane future / career

अपराधियों को सजा दिलाना चाहते है?, समाज को न्याय दिलाना चाहते है? बेकसूर को न्याय दिलाकर समाज में जीने के काबिल बनाना चाहते है? आपको महान वैज्ञानिक बनना है? यदि आपका जवाब हाँ है, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े.Great scientist

introduction:

अपने प्रियजनों की वास्तविक पहचान हो या अपराधियों को पकड़ना हो. एक फोरेंसिक वैज्ञानिक हर जगह अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. बढ़ते क्राइम ग्राफ के कारण इसके विशेषज्ञों की मांग में भारी उछाल आया है. क्यों की यह एक विज्ञान-गहन क्षेत्र है, इसलिए वैज्ञानिक, विद्वान और शोधकर्ता भी इसमें बहुत रुचि रखते हैं, लेकिन इस क्षेत्र में प्रवेश करने से पहले कुछ महत्वपूर्ण बातों पर विचार करना आवश्यक है. Great scientist kaise bane future / career

कभी-कभी, सबूतों की कमी, उचित जांच की कमी और थोड़े समय में सबूतों को नष्ट करने के कारण, अपराधी भागने में सक्षम होते हैं. अपराध से निपटने और शातिर अपराधियों द्वारा किए गए अपराधों को सुलझाने के नए तरीके सामने आ रहे हैं. अब इस क्षेत्र के विशेषज्ञों का भी सहारा लिया जा रहा है. इन विशेषज्ञों को फोरेंसिक साइंस साइंटिस्ट के रूप में जाना जाता है और अपराधों को समझाने में पुलिस की मदद करता है. kaise bane future / career

फोरेंसिक विज्ञान पर एक नजर :

यदि आप उत्सुक हैं और साहसिक कार्यों में रुचि रखते हैं तो आप निश्चित रूप से एक बेहतर फोरेंसिक विशेषज्ञ बन सकते हैं. आज हर क्षेत्र में विज्ञान का उपयोग महत्वपूर्ण है, इसलिए कैरियर की दृष्टि से विज्ञान की शाखाएं हर क्षेत्र में विज्ञान के उपयोग के कारण लगातार बढ़ रही हैं. स्वयं विज्ञान की एक शाखा, फॉरेंसिक विज्ञान का उपयोग भारत जैसे देश में भी तेजी से बढ़ रहा है. इसके उपयोग को देखते हुए, इस क्षेत्र में रोजगार के बहुत सारे अवसर पैदा हुए हैं. future / career

यह भी पढ़े :

Forensic Science में Great Scientific की परिभाषा:

फोरेंसिक विज्ञान का उपयोग मुख्य रूप से अपराध के मामलों को सुलझाने में किया जाता है, लेकिन अब यह खगोल विज्ञान, भूविज्ञान, पुरातत्व जैसे क्षेत्रों में भी बढ़ रहा है. यह पृथ्वी के नीचे होने वाली गतिविधियों का अध्ययन करने के लिए अपराध के स्थान से सबूत इकट्ठा करने में सहायक है.

अपराध स्थल, रक्त का नमूना, डीएनए प्रोफाइलिंग, नई तकनीकों के बारे में अनुसंधान आदि की जांच. इन सबूतों के आधार पर, फोरेंसिक वैज्ञानिक रिपोर्ट तैयार करते हैं. ये ऐसे वैज्ञानिक हैं जो पुलिस के साथ सही सबूतों की जानकारी देने का काम करते हैं .इस क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवरों को फोरेंसिक विज्ञान वैज्ञानिक कहा जाता है. यह एक अपराध प्रयोगशाला आधारित नौकरी है, जिसमें साक्ष्य की समीक्षा की जानी है.

यह भी पढ़े :

फोरेंसिक साइंस कोर्स : Forensic Science Course 

निम्नलिखित पाठ्यक्रम का अध्ययन करके फोरेंसिक साइंस में करियर बना सकते है.

ग्रेजुएशन कोर्स | graduation course

  • फोरेंसिक साइंस में Bsc (तीन वर्ष)
  • फोरेंसिक विज्ञान और अपराध विज्ञान में Bsc (तीन वर्ष)

इसमें प्रवेश लेने के लिए, 60 प्रतिशत अंकों के साथ 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण होनी चाहिए.

पोस्-ग्रेजुएशन कोर्स | Post-graduation course

  • अपराध विज्ञान और आपराधिक न्याय में स्नातकोत्तर (दो वर्ष)
  • अपराध विज्ञान और फोरेंसिक विज्ञान में एमएससी (2 y)
  • साइबर फोरेंसिक और सूचना सुरक्षा में एमएससी (दो वर्ष)

इन पीजी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए इस स्ट्रीम से स्नातक 60 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है.

  • फोरेंसिक विज्ञान के अनुशासन में पीएचडी (तीन वर्ष)
  • फोरेंसिक विज्ञान में एमफिल

इस स्ट्रीम से मास्टर डिग्री प्राप्त करने के बाद, इसे अध्ययन के लिए लागू किया जाता है.

  • एमएड (फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी) (दो वर्ष)

एमबीबीएस या बीडीएस की पढ़ाई करने के बाद आप इसमें आवेदन कर सकते हैं. यह एक डॉक्टरेट की तरह है.

  • फोरेंसिक साइंस में सर्टिफिकेट कोर्स (एक वर्ष)
  • आहार चिकित्सा की मूल बातें (छह महीने) सर्टिफिकेट कोर्स

इन्हें करने के लिए साइंस मैथ के साथ 12 वीं उत्तीर्ण होना चाहिए.

  • फोरेंसिक विज्ञान और अपराध विज्ञान में उन्नत डिप्लोमा कोर्स प्रमाणन (छह महीने)

इसके बाद स्नातक की डिग्री के लिए आवेदन किया जाता है. ऐसा करने से आपको नौकरी मिलना आसन होता है .

  • दस्तावेज़ परीक्षा में डिप्लोमा (छह महीने)
  • फिंगरप्रिंट परीक्षा में डिप्लोमा (छह महीने)

इन डिप्लोमा में प्रवेश पाने के लिए इंटरमीडिएट विज्ञान वर्ग के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए.

  • फोरेंसिक मनोविज्ञान में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (एक वर्ष)
  • साइबर अपराध जांच और कंप्यूटर फोरेंसिक (एक वर्ष) में स्नातकोत्तर डिप्लोमा

इन डिप्लोमा को करने के लिए इन विषयों और स्ट्रीम के साथ स्नातक उत्तीर्ण होना चाहिए.

यह भी पढ़े :

Educational Qualifications | शैक्षणिक योग्यता:

  • फोरेंसिक साइंस में करियर बनाने के लिए आपको साइंस विषय से 12 वीं पास होना चाहिए. जिसके बाद आप फोरेंसिक साइंस में स्नातक डिग्री या डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं.
  • फोरेंसिक साइंस में एमएससी करने के लिए, स्नातक में 60 प्रतिशत अंकों के साथ भौतिकी, रसायन विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, जैव रसायन, माइक्रोबायोलॉजी, बी.फार्मा, बी.डी.एस या एप्लाइड साइंस में स्नातक होना चाहिए.
  • यदि आपके पास एमबीबीएस की डिग्री है, तो आप फोरेंसिक साइंस में एमडी कर सकते हैं.
  • एमएसी में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण है तो आप पी.एच.डी, एम.फील (फिजिक्स, कैमिस्ट्री, बॉयोकेमिस्ट्री, एंथ्रोपलॉजी, माइक्रोबायॉलजी, कंप्यूटर साइंस, कंप्यूटर इंजिनियरिंग, फॉरेंसिक साइकॉलजी आदि एक विषय में ) कर सकते है.
  • क्राइम सीन इन्वैस्टिगेशन का अध्यन करने के लिय – पासफोरेंसिक जांच में डिप्लोमा या डिग्री या विश्लेषणात्मक रसायन विज्ञान में डिग्री होना अनिवार्य है.
  • फॉरेंसिक पैथोलॉजी/ मेडिसिन में अध्यन करने के लिय – मेडिकल की डिग्री (एम.बी.बी.एस) एम.डी. के साथ या फॉरेंसिक साइंस में पोस्ट ग्रैजुएट.
  • फॉरेंसिक एंथ्रोपोलॉजी – एंथ्रोपोलॉजी में पी.एच.डी. की डिग्री के साथ-साथ बॉडी पार्ट्स (एनाटॉमी) और हड्डियों की रचना (ऑस्टियोलॉजी) की पढ़ाई करना जरूरी है। इनके अलावा, मेडिकल की डिग्री, पीजी के साथ होनी चाहिए
Dexterity | निपुणता

फोरेंसिस साइंस में अध्यन लिए निम्नलिखित कौशल की आवश्यकता चाहिए.

  • सावधानीपूर्वक कार्य
  • बुद्धिमत्ता
  • टीम वर्क
  • तार्किक और तर्कसंगत कार्य की विशेषता
  • संचार कौशल
  • लेखन कला
  • अंग्रेजी का अच्छा ज्ञान
फोरेंसिस साइंटिस्ट के लिए करियर के अवसर | Career opportunities for forensic scientist
  • ट्रेंड प्रोफेशनल्स क्राइम सीन इन्वेस्टिगेटर,
  • ट्रेस एविडेंस एनालिस्ट
  • पैथोलॉजिस्ट
  • साइकोलॉजिस्ट
  • सीरोलॉजी एक्सपर्ट फॉरेंसिक साइंटिस्ट के लिए फॉरेंसिक लैब
  • आई.बी., सी.बी.आई में इन्वेस्टिगेटिव ऑफिसर
  • फोरेंसिस साइंटिस्ट की मांग भारत में विदेशों से ज्यादा है.
  • अमेरिका जैसे विकसित देशों में, हर साल उनकी मांग में लगभग 25 प्रतिशत की वृद्धि हो रही है.
वेतन | the wages 
  • फोरेंसिक विशेषज्ञ का वेतन सरकार द्वारा निर्धारित किया जाता है.
  • राशि 50-60 हजार रुपये प्रति माह से कम नहीं होगी.
  • अनुभव के साथ यह राशि भी बढ़ेगी.
  • सुविधाएं भी उपलब्ध रहती हैं.
फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी | Forensic Science University
  • डॉ. भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी, आगरा
  • www.dbrau.ac.in
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • www.ipu.ac.in
  • इंस्टीट्यूट ऑफ फोरेंसिक साइंस ऐंड क्रिमिनोलॉजी, बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी
  • www.bujhansi.org
  • डिपार्टमेंट ऑफ फोरेंसिक साइंस, पंजाब यूनिवर्सिटी
  • www.punjabiuniversity.ac.in
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी
  • www.du.ac.in
  • लोक नायक जयप्रकाश नारायण नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ क्रिमिनोलॉजी ऐंड फोरेंसिक साइंस, दिल्ली
  • सेंट्रल फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी, हैदराबाद
  • सेंट्रल फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी, चंडीगढ़

यह भी पढ़े :

Postscript:

Post Name: Forensic Science में Great scientist kaise ban

Description :  आजकल आपराधिक घटनाओं में वृद्धि को देखते हुए फोरेंसिक विशेषज्ञों की मांग लगातार बढ़ रही है. आप फोरेंसिस साइंस में प्रवेश करके एक महान वैज्ञानिक बन सकते है.

Author: शीतल

Tags: Great scientist Kaise bane?, How to make a future?, Career after twelfth?

Leave a Reply

error: Content is protected !!