Make a future in B.Sc. Nursing | बी.एससी.नर्सिंग में भविष्य बनाएं

Make a future in B.Sc.Nursing : बी.एससी.नर्सिंग में भविष्य बनाएं, B.Sc Nursing me career kaise banaye : बीएससी नर्सिंग में करियर कैसे बनाएं?

इन दिनों नर्सिंग एक उज्ज्वल सेवा कैरियर के रूप में उभरा है. यह एक ऐसा करियर है, जो महानगरों में गाँव की महिलाओं से समान कैरियर की संभावनाओं को प्रस्तुत करता है. नर्स का काम मानवीय भावनाओं का एक काम है, जिसका कोई मूल्य निर्धारित नहीं किया जा सकता है. जितना नर्स का काम आरामदायक लगता है, वास्तव में यह एक अधिक जिम्मेदार काम है. career kaise banaye

मानव सेवा की भावना रखने वाली युवा महिलाओं को इस क्षेत्र में आना चाहिए, क्योंकि इस समय स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार हो रहा है और न केवल बड़े शहरों में, बल्कि छोटे शहरों में भी निजी अस्पतालों की बहुतायत है, इसलिए नर्सिंग क्षेत्र में भी रोजगार के अवसर हैं.

Make a future in B.Sc. Nursing | बी.एससी.नर्सिंग में भविष्य बनाएं, career kaise banaye

रोगियों को स्वस्थ बनाने में, लेकिन उनके जीवन की रक्षा करने में भी नर्स की महत्वपूर्ण भूमिका है? एक कुशल नर्स मरीजों की भावनाओं और मनोविज्ञान को समझ सकती है और उनकी उचित देखभाल कर सकती है. महिला स्वयं और बलिदान का प्रतीक है, इसलिए नर्सिंग युवा महिलाओं के लिए सबसे उपयुक्त और सुरक्षित कैरियर है.

यह भी पढ़े: career kaise banaye

नर्सिंग की खास बातें :

चिकित्सा के क्षेत्र में, जो हर दिन नई तकनीक की खोज कर रहा है और अब कई बीमारियाँ पाई गई हैं जिनका इलाज संभव नहीं था, लेकिन उनका इलाज भी किया जा रहा है, अर्थात चिकित्सा विज्ञान में प्रगति के कारण, इस क्षेत्र में रोजगार के अधिक अवसर हैं. बीएससी नर्सिंग उन पाठ्यक्रमों में से एक है जिसके माध्यम से चिकित्सा क्षेत्र में करियर आसानी से बनाया जा सकता है. नर्सिंग एक सम्मानजनक डिग्री है.

चिकित्सा क्षेत्र (Medical field) में जाने के लिए आपको डॉक्टर ही बनना पड़े. डॉक्टर बनने के लिए बहुत ज्यादा पैसा, समय, मेहनत आदि लगती हैं इस कारण से कई लोग MBBS या ऐसी ही कोई अन्य पढाई नहीं कर पाते.  किन्तु इसके आलावा ऐसे कई सारे कौर्स हैं जिनके द्वारा आप इस क्षेत्र में शानदार करियर बना सकते हैं. जिसका नाम बी.एस.सी. नर्सिंग (B.Sc.Nursing) है.

नर्सिंग पाठ्यक्रम की जानकारी | Nursing course information 

नर्सिंग क्षेत्र के पाठ्यक्रम है. career kaise banaye

  • डिप्लोमा, स्नातक और प्रमाणपत्र
  • बीएससी नर्सिंग के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कीजिए.
  • एमफिल और पीएचडी
  • पोषणविज्ञान (Dietetics) career kaise banaye
  • हृदय रोग विशेषज्ञ (Cardiologist) कार्डियोलॉजिस्ट
  • बच्चों की दवा विशेषज्ञ (Pediatrics)
  • नेत्र विज्ञान (Ophthalmology)
  • हड्डी रोग Orthopedics

आदि नर्सिंग के अंतर्ग आनेवाले पाठ्यक्रम है आप इस कोर्स में विशेषज्ञ बन के नर्सिंग क्षेत्र में अपना करियर बना सकते है. नर्सिंग क्षेत्र में बहुत कोर्स है लेकिन आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बीएससी नर्सिंग कोर्स के बारें में जानकारी बताने जा रहे है.

B.Sc Career in Nursing | बीएससी नर्सिंग में करियर बनाएं

नर्सिंग में इन दिनों लड़कियों के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध है. इस कोर्स को ग्रामीण क्षेत्र से लेकर शहरों तक के छात्रों को करना पसंद है. नर्सिंग पाठ्यक्रम उन युवतियों के लिए बहुत ही अच्छा है, जो समाज की सेवा करना चाहती हैं. नर्स, एक भगवान का काम करती है, मरीज की सेवा करती है. नर्स डॉक्टरी पेशे का आधारस्तम्भ है, क्यों की बड़े डॉक्टर नर्स के बिना ऑपरेशन नहीं कर सकते. नर्सिंग का कोर्स करके समाज सेवा करने का अवसर मिलता है. नर्स का काम नई जिंदगी देने का काम है. ”यदि सत्य है, तो एक धर्म प्रेम को प्रेरित करेगा” इस के अनुसार दूसरों की सेवा करने की भावना रखते हैं. उन्हें यह कोर्स करके सामज की सेवा करने का अवसर मिलेगा. नर्सिंग के माध्यम से अपना करियर बना सकते है.

यह भी पढ़े:

शैक्षणिक योग्यता | Educational qualification

  • 10 + 2 परीक्षा (भौतिकी, रसायन, अंग्रेजी, जीव विज्ञान) उत्तीर्ण होनी चाहिए. 10 + 2 अथवा इंटरमीडिएट परीक्षा में कम-से-कम 55 प्रतिशत अंक चाहिए.
  •  आयु : 17 से 35 के बीच होनी चाहिए.

पाठ्यक्रम शुल्क | Course fee

  • बीएससी नर्सिंग कोर्स के लिए सरकारी कॉलेज की फ़ीस कम होती है. सरकारी कॉलेज में स्कॉलरशिप भी मिलती है. जो की, हमारी फीस का खर्चा निकल जाता है.
  • निजी कॉलेज की फ़ीस अधिक रहती है.
बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम | B.Sc.Nursing Course

B.Sc.Nursing नर्सिंग पाठ्यक्रम में 4 वर्ष में आने वाले विषय की जानकारी निम्नलिखित है.

  • बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम 4 वर्ष का रहता है.
  • बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम 4 वर्ष पूरा करने के बाद ” बैचलर ऑफ साइंस नर्सिंग डिग्री ” प्राप्त होती है.

प्रथम वर्ष में आने वाले विषय-Topics covered in first year

  • एनाटॉमी (Anatomy)
  • फिजियोलॉजी (Physiology)
  • पोषण (Nutrition)
  • जीव रसायन (Biochemistry)
  • हिंदी या क्षेत्रीय भाषा (Hindi or regional language)
  • लाइब्रेरी कार्य (Library work)
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां (co-curricular activities)
  • नर्सिंग फाउंडेशन (Theory and Practical)
  • मनोविज्ञान (Psychology)
  • कीटाणु-विज्ञान (Microbiology)
  • कंप्यूटर का परिचय (Computer introduction)
  • अंग्रेज़ी (English)
द्वितीय वर्ष-second year
  • नागरिक सास्त्र (Sociology)
  • औषध (Pharmacology)
  • पैथोलॉजी और जेनेटिक्स (Pathology and genetics)
  • लाइब्रेरी कार्य (Library work)
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां (co-curricular activities)
  • मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग (Medical Surgical Nursing)
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग (Community Health Nursing)
  • संचार और शैक्षिक प्रौद्योगिकी (Communication and Educational Technology)
तृतीय वर्ष-Third year
  • दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग (Midwifery and Obstetrical Nursing)
  • लाइब्रेरी कार्य (Library work)
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां (co-curricular activities)
  • मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग (Medical Surgical Nursing)
  • बाल स्वास्थ्य नर्सिंग (Child Health Nursing)
  • मानसिक स्वास्थ्य नर्सिंग (Mental health nursing)
चतुर्थ वर्ष-Fourth year
  • दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग (Midwifery and Obstetrical Nursing)
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग- II (Community Health Nursing-II)
  • नर्सिंग रिसर्च एंड स्टेटिस्टिक्स (Nursing Research and Statistics)
  • नर्सिंग सर्विसेज और शिक्षा का प्रबंधन (Management of Nursing Services and education)
  • लाइब्रेरी कार्य ( (Library work)
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां (co-curricular activities)
इंटर्नशिप (internship)-समन्वित अभ्यास
  • मेडिकल-सर्जिकल नर्सिंग (Medical-Surgical Nursing (Adult and geriatrics)
  • बाल स्वास्थ्य नर्सिंग (Child Health Nursing)
  • मानसिक स्वास्थ्य नर्सिंग (Mental health nursing)
  • दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग (Midwifery and Obstetrical Nursing)
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग II (Community Health Nursing II) (Mental health Nursing)
  • अनुसंधान परियोजना (Research Project)

यह भी पढ़े:

B.Sc. के बाद नौकरी कहां मिल सकती है | Where can I get a job after nursing B.Sc.
  • अस्पताल में स्टाफ नर्स  फिर
  • 2-3 साल में वार्ड सिस्टर
  • सरकारी और निजी अस्पताल
  • स्कूल हेल्थ नर्सेस
  • इंडस्ट्रीयल नर्स
  • आर्म्ड फोर्सेस
  • कम्युनिटी हेल्थ नर्सेस
  • स्पेशल क्लिनिक, केयर सेंटर और काउंसलिंग सेंटर
  • नर्सिंग होम
  • पैथोलोजी सेंटर
  • रिसर्च सेंटर
  • भारतीय सेना
  • रेलवे
सैलरी | Salary
  • निजी नर्सिंग होम में 12, 000/- से 18, 000 /-
  • सरकारी नर्स 35, 000 /-
  • विदेश में 80, 000 /-  से 1,50, 000 /-
बीएससी नर्सिंग कॉलेज | BSC Nursing Colleges
  • आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस, दिल्ली
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई
  • बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी, वाराणसी
  • शरद यूनिवर्सिटी, नोएडा
  • आयुष एंड हेल्थ साइंस यूनिवर्सिटी, रायपुर
  • आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे

इस तरह से आप बीएससी नर्सिंग करके अपना करियर बनाएं.

यह भी पढ़े :

Postscript: अनुलेख

Post Name: बीएससी नर्सिंग में करियर बनाएं (B.Sc Career in Nursing)

Description:  नर्सिंग दुनिया में सबसे अधिक पेशेवर पेशा है. मेडिकल का ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है जहाँ नर्स की आवश्यकता न हो, अगर आपको सेवा करने का जुनून है तो आप नर्सिंग क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं.

Author: प्रतिभा

Tags:  B.Sc Career in Nursing, बी.एससी. नर्सिंग क्या है?, 12 के बाद करे बी.एससी. नर्सिंग.

इंग्लिश में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

Leave a Reply

error: Content is protected !!