Create future after 12th in BHMS | BHMS में 12 वीं के बाद भविष्य बनाएं

Create future after 12th in BHMS : BHMS में 12 वीं के बाद भविष्य बनाएं?, Homeopathy Doctor me career / future kaise banaye? : होम्योपैथी डॉक्टर में करियर / भविष्य कैसे बनाए?

एलोपैथिक और आयुर्वेदिक प्रणालियों के बाद होम्योपैथी भारत में तीसरी लोकप्रिय दवा प्रणाली है. होम्योपैथी शिक्षा 1983 में स्नातक स्तर और डिप्लोमा पाठ्यक्रम के रूप में शुरू हुई. लेकिन वर्तमान में, छात्रों को होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए कई पाठ्यक्रमों की पेशकश की जाती है. जैसे BHMS कोर्स, BHMS (बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी) कोर्स करके, छात्र आसानी से इस क्षेत्र से संबंधित सभी जानकारी को समझ लेते हैं और BHMS (बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी) कोर्स लेने के बाद आसानी से इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं.

यह एक प्रकार की होम्योपैथिक डॉक्टर की डिग्री है, जिसके बाद आप एक अच्छे होम्योपैथिक डॉक्टर बन सकते हैं. यह डिग्री आज बहुत लोकप्रिय हो रही है, छात्र इसे करने के लिए आगे आ रहे हैं, इसमें भविष्य बनाने की भी संभावनाएं हैं, आने वाले समय में इस पाठ्यक्रम के माध्यम से छात्र अपना करियर बना सकते हैं क्योंकि अंग्रेजी चिकित्सा ने लोगों को बहुत परेशान किया है, इसलिए आज लोगों का ध्यान होम्योपैथिक चिकित्सा की ओर जा रहा है. अगर आप भी इस फील्ड में जाना चाहते हैं तो यह आपके लिए बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है.

Create future after 12th in BHMS | BHMS में 12 वीं के बाद भविष्य बनाएं,Homeopathy Doctor

मुख्य रूप से एक गोली के रूप में, रोगियों के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है. यह मरीजों के शरीर की प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली को ट्रिगर करता है और रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है. BHMS पाठ्यक्रम के उम्मीदवार होम्योपैथिक बाल चिकित्सा फार्मेसी, मनोचिकित्सा, त्वचा विशेषज्ञ और बांझपन जैसे विशेषज्ञताओं का चयन करके अपना भविष्य बना सकते हैं. ताकि वे अपने होम्योपैथी अध्ययन ज्ञान प्रदर्शन के साथ रोगियों की देखभाल कर सकें. Create future after 12th in BHMS

बीएचएमएस का फुल फॉर्म | Full form of BHMS 

  • BHMS – बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी (Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery)

यह भी पढ़े : Homeopathy Doctor

  • विज्ञान में 12 वी में Physics, Chemistry, Biology and English विषयों में 50 % अंक के साथ उत्तीर्ण 
  • उम्र 17 वर्ष होनी चाहिए. Homeopathy Doctor
  • एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा.

प्रवेश परीक्षा | Entrance examinations

  • बीएमएस कोर्स के कुछ शीर्ष संस्थानों में प्रवेश पाने के लिए प्रवेश परीक्षा दी जाती है.
  • उम्मीदवारों को राष्ट्रीय स्तर और राज्य स्तर पर आयोजित होने वाले विभिन्न प्रकार के प्रवेश परीक्षाओं में उपस्थित होना आवश्यक है. Homeopathy Doctor
  • उम्मीदवारों का चयन संबंधित प्रवेश परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर किया जाता है.
  • पर्सनल इंटरव्यू देना होगा, इसके साथ ही उम्मीदवारों के कौशल और क्षमताओं को आंका जा सकता है.
  • जो उम्मीदवार सफलतापूर्वक प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं, वे काउंसलिंग के लिए उपस्थित होते हैं.
  • NEET –  National  Eligibility  Cum  Entrance  Test 
  • AP EAMCET – Andhra Pradesh Engineering, Agriculture and Medical Common Entrance Test 
  • KEAM – Kerala Engineering Agriculture Medical Degree
  • PU CET –  Panjab University Common Entrance Test
  • TS EAMCET – Telangana State Engineering, Agriculture & Medical  Common Entrance Test

आदि प्रवेश परीक्षा देना होता है. आप लिंक पर क्लिक करे, रिजल्ट, हॉलटिकिट डाऊनलोड भी कर सकते है.

यह भी पढ़े :

BHMS कोर्स की जानकारी | BHMS Course Information

BHMS कोर्स 5 वर्ष 6 महीने का रहता है. 4 वर्ष 6 महीने शैक्षणिक सत्र और 1 साल इंटर्नशिप रहती है. कोर्स की जानकारी निम्नलिखित है.

पहला साल – First Year Homeopathy Doctor

  • Organon of medicine, principles of Homoeopathic philosophy and psychology
  • Psychology including Biochemistry
  • Anatomy, Histology, and Embryology
  • Homoeopathic Materia Medical
  • Homeopathic pharmacy Homeopathy Doctor

दूसरा साल – 2nd year

  • Organon of Medicine and principles of Homeopathic Philosophy.
  • Forensic Medicine & Toxicology
  • Pathology and Microbiology including Parasitology Bacteriology and virology
  • Homoeopathic Materia Medical
  • The practice of Medicine and Homoeo. Therapeutics
  • Obstetrics & Gynaecology Infant care and Homoeo therapeutics.
  • Surgery including ENT, Eye dental and Homoeo therapeutics.

तीसरा वर्ष –  third year

  • Obstetrics & Gynaecology Infant Care and Homoeo therapeutics.
  • Surgery including ENT, Ophthalmology & Dental & Homoeo
  • The practice of medicine & Homoeo therapeutics
  • Organon of medicine
  • Homoeopathic Materia Medical

चौथा वर्ष – fourth year

  • Organon of Medicine
  • Homoeopathic Materia Medical
  • The practice of Medicine & Homoeo therapeutics
  • Community Medicine
  • Repertory

पांचवा वर्ष – fifth year

  • 1 वर्ष इंटर्नशिप
BHMS कोर्स की फीस | BHMS Course fee
  • निजी और सरकारी कॉलेज की फ़ीस कॉलेज अनुसार रहती है. BHMS करने के लिए लगभग 2 से 3 लाख फ़ीस लग सकती है. 

यह भी पढ़े :

BHMS के बाद नौकरी की संभावनाएं | Job prospects after BHMS

उम्मीदवार या तो होम्योपैथिक और संबद्ध क्षेत्र में काम कर सकते हैं या अपने चुने हुए क्षेत्र में उच्च स्तर के अध्ययन या शोध के लिए अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं, जो उम्मीदवार उच्च अध्ययन करना चाहते हैं, वे अस्पताल प्रबंधन में भी कर सकते हैं. कुछ क्षेत्र ऐसे हैं जिनमें बीएचएमएस कोर्स के बाद उच्च अध्ययन किया जा सकता है जैसे की…..  Master of Science , Doctorate (Dr.)

  • सरकारी अस्पताल (government hospital)
  • निजी अस्पताल (private hospital)
  • बीमा कंपनि (Insurance company)
  • गैर सरकारी संगठन (Non government organization)
  • दवा कंपनि (pharmaceutical company)
  • अनुसंधान प्रयोगशाला (Research Laboratory)
  • फार्मेसिस्ट (Pharmacist)
  • जूनियर लेक्चरर (Junior lecturer)
  • बीमा अधिकारी (Insurance officer)
  • शोध सहयोगी (research Associate)
  • होम्योपैथिक डॉक्टर (Homeopathic doctor)
  • होम्योपैथिक सलाहकार (Homeopathic consultant)
  • गुणवत्ता नियंत्रण अधिकारी (Quality control officer)
  • बीएचएमएस के पूरा होने के बाद, कैरियर का अवसर न केवल भारत में है, बल्कि विदेशों में भी है. कई संगठन विदेश में विनिर्माण और अनुसंधान के क्षेत्र में काम कर रहे हैं ताकि इस क्षेत्र के पेशेवरों की जरूरत हो.
  • बांझपन
  • होम्योपैथिक फार्मेसी
  • मानसिक रोगों की चिकित्सा
  • बच्चों की दवा
  • त्वचा विशेषज्ञ आदि में महारथ हासिल कर सकते है.
BHMS कॉलेज | BHMS College
  • नेहरू होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली
  • कलकत्ता होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज, कलकत्ता
  • फादर मुलर होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज, कर्नाटक
  • बक्सन होम्योपैथी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, ग्रेटर नोएडा
  • वेंकटेश्वर होम्योपैथी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, चेन्नई
  • श्रीमती चंदाबेन मोहनभाई पटेल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज, मुंबई
  • श्री साईराम होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर, चेन्नई
यह भी पढ़े :

Postscript: अनुलेख

Post Name: BHMS में 12 वीं के बाद भविष्य बनाएं (Create future after 12th in BHMS)

Description: BHMS का पूरा नाम बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी है। BHMS एक अंडरग्रेजुएट होम्योपैथिक मेडिकल कोर्स है

Author: अमित 

Tags: BHMS में 12 वीं के बाद भविष्य बनाएं, होम्योपैथी डॉक्टर कैसे बनें?BHMS कैसे करे?

इंग्लिश में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिककरें 

Leave a Reply

error: Content is protected !!