chikoo lassee kaise banaaye?:चिक्कू की लस्सी कैसे बनाये?

chikoo lassee kaise banaaye?:चिक्कू की लस्सी कैसे बनाये?, चीकू के नाम:chiku ke naam,Nutritious Information (Volume-100g)Materials to Chikoo Lassi

चिकू फल मूल रूप से दक्षिण अफ्रीका के वेस्टंइडिज द्विप समूह में पाया जाता है। वहा पर चीकू को ” चिकोज पेटी ” के नाम से जानते है। चीकू सभी मौसम में उपलब्ध रहता है। चिकू फल स्वास्थ्य, बाल और त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद है। चिकू को ऊपर में छिलका रहता है और अंदर में बीज, पल्प रहता है इसमें शुगर की मात्रा अधिक रहती है। चिकू की खेती भारत और मेक्सिको में की जाती है।

chikoo lassee kaise banaaye?:चिक्कू की लस्सी कैसे बनाये?

चिकू में  पानी-71 % , प्रोटीन -1.5 %, फैट और कार्बोहाइड्रेटस -25.5 % , विटामिन ए और विटामिन सी, शर्करा 14 % , फास्फोरस और आयरन की मात्रा अधिक पाई जाती है, क्षार का भी अंस रहता है। चिकू का सेवन खाना खाने के बाद ही करना चाहिए सेहत के लिए फायदेमंद है। chikoo lassee kaise banaaye

यह भी पढ़े: chikoo lassee kaise banaaye

चीकू के नाम:chikoo ke naam

  • हिंदी – चीकू chikoo lassee kaise banaaye
  • इंग्लिश- sapota

चीकू की पौष्टिक जानकारी(मात्रा-100 ग्राम):Nutritious Information of Chikoo(Volume-100g)

  • कार्बोहाइड्रेट- 19.96 g
  • आहार – 5.3 g
  • वसा -1.1 g
  • प्रोटीन- 0.44 g
  • रिबोफ्लेविन(विटा.बी 2 ) – 0.02 mg (1%)
  • नायसिन(विटा.बी 3)- 0.2 mg (1%)
  • पैण्टोथेनिक अम्ल (बी5) – 0.252 mg (5%)
  • विटामिन (बी6) – 0.037 mg (3%)
  • फोलेट (Vit. B9) -14 μg (4%)
  • विटामिन सी -14.7 mg (25%)
  • कैल्शियम -21 mg (2%)
  • लौह- 0.8 mg (6%)
  • मैग्नेशियम- 12 mg (3%)
  • फास्फोरस- 12 mg (2%)
  • पोटैशियम -193 mg (4%)
  • सोडियम- 12 mg (1%)
  • जस्ता -0.1 mg (1%)
  • कैलोरी- 83

Benefits of eating chikoo:चिकू खाने केफायदे

चिकू खाने से हमारे शरीर को आयरन, फास्फोरस और कैल्शियम का सत्व मिलता है इसके कारन हमारे शरीर की हड्डिया मजबूत बनती है।

चिकू खाने से हमारे शरीर को विटामिन A का सत्व मिलता है इसके कारण हमारे आँखों की समस्या दूर होती है।

chikoo का सेवन करने से शरीर को ग्लूकोज का सत्व मिलता है, ग्लूकोज के कारण हमारे शरीर को एनर्जी मिलती है। गर्मी के दिनों में चिकू का सेवन करना चाहिए, लस्सी पीना चाइये सेहत के लिए बहुत ही फायदे मंद है।

चीकू के फल में टैनिन सत्व रहता है, जो हमारे शरीर को चिकू का सेवन करने से मिलता है और इसके कारण होनेवाली बीमारिया जैसे की, कब्ज, हृदय, गुर्दा, दस्त, एनेमिया आदि बिमारियों से बचाव करता है और आंतों की शक्ति बढ़ती है।

अगर आप चीकू का सेवन करते हो तो, हमेशा आप जवा ही बने रहोंगे क्योंकि चीकू में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा रहती है इसके कारण हमारे चेहरे की झुर्रिया, आँखों के निचे की पट्टिया, काला रंग आदि से छूटकारा मिलता है और चेहरे पर निखार आता है।

चिकू का सेवन करना हमारे लिए बहुत ही फायदे मंद है, क्यों की चिकू में विटामिन A तथा B की मात्रा रहती है और इस मात्रा में फायबर, एंटीऑक्सीडेंट आदि सत्व के कारण कैंसर जैसी बीमारी दूर होती है।

यह भी पढ़े:

चिकू में फायबर की मात्रा रहती है इसके कारण कब्ज दूर होता है।

चीकू के सेवन से सर्दी, खासी और कफ आदि से बचाव होता है।

चिकू के सेवन से गॉस्टिक एंजाइम्स नियंत्रित होता है और हमारा  मोटापे से बचाव होता है।

चिकू के बीज को पिस कर खाने से पथरी पेशाब के द्वारा बाहर निकलती है।

चीकू पल में लेटेक्स सत्व की मात्रा रहती है यह दांतो की गुहिका भर के लाता है।

चीकू फल में विटामिन E की मात्रा रहती है और विटामिन E एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से युक्त है इसके कारण फ्री रेडिकल्स से कोशिकाओं की झिल्लियों का बचाव करती है। चेहरे के धब्बे, निशान कम होते है। ख़राब केलेस्ट्रॉल को कम करता है।

7 से 8 साल के बच्चों को चीकू दे सकते हो क्यों की चीकू फल में विटामिन्स और मिनरल्स रहते है। इस कारण बच्चों की आँखों की समस्या, हीमोग्लोबिन और  रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ती है।

चिकू खाने के नुकशान | cheekoo khaane ke nukasaan

चीकू फल का सेवन अधिक करने से वजन बढ़ सकता है क्योंकि कैलोरी ज्यादा रहती है।

ज्यादा चीकू खाने से पेट दर्द हो सकता है।

अधिक कच्चे चीकू खाने से बच्चों के गले में खरास, सास लेने में परेशानी आदि समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

दोस्तों चीकू खाने के फायदे आपने पढ़ें ही है, अब आपको बताने जा रहे है, चीकू की लस्सी कैसे बनाते है, जो मेहमानों के लिए बहुत ही स्वादिष्ट पेय है। अब हम जानेंगे की चिकू की मीठी लस्सी कैसे बनाते है..

चिकू लस्सी बनाने की सामग्री | Materials to Chikoo Lassi
  • 5 चमच चीनी
  • 1 कप दही
  • इलायची पीसी हुई
  • बादाम या पिस्ता के बारीक़ टुकड़े
चीकू  लस्सी बनाने की विधि | Recipes Chikoo lassi

5 चमच चीनी, 1 कप दही और 2 कप पानी डालकर मिक्सी मे मिश्रण बनाए। बादाम या पिस्ता के बारीक़ टुकड़े डालिए और उपर से चुटकी भर पिसी हुई इलायची पाउडर डालिए अब मीठी लस्सी तैयार है।

चिकू की लस्सी जितने ग्लास बनानी है उतने ही चिकू लीजिए।चिकू को छीलिये और बीज निकाल दीजिए। मिक्सी में मिश्रण बनाये अब आपका चिकू का पेस्ट तैयार है इस पेस्ट को मीठी लस्सी के सभी ग्लास में चमच से डालिये और अच्छी तरह से ग्लास में घोलिये। मिलाने के बाद अपने मेहमानों को दीजिए।

यह भी जरूर पढ़े :
डॉ.सी.व्ही रामन की जीवनी  

मदर तेरेसा की जीवनी

 डॉ. शुभ्रमण्यम चंद्रशेखर की जीवनी 

डॉ.हरगोनिंद खुराना की जीवनी 

डॉ.अमर्त्य सेन की जीवनी 

 डॉ.व्ही.एस.नायपॉल की जीवनी 

 डॉ.राजेंद्र कुमार पचौरी की जीवनी

डॉ.व्यंकटरमन रामकृष्णन की जीवनी

मदर टेरेसा की जीवनी

रवीन्द्रनाथ टैगोर की जीवनी 

आल्फ्रेड नोबेल का जीवन चरित्र

भारत्तोलक कर्णम मल्लेश्वरी की जीवनी  

निशानेबाज राज्यवर्धन सिंग राठोर जिवनी 

वीरेंद्र सिंग जीवन 

मुष्टियोधा एम.सी मेरिकोम जीवनदर्शन 

 भारतीय नेमबाज गगन सारंग जीवनदर्शन 

भारतीय नेमाज खिलाडी अभिनव बिंद्रा जीवनी 

 बैडमिन्टन पटु सायना नेहवाल 

टेनिस खिलाडी लिएंडर पेस जीवनी

पुलिस भरती की जानकारी 

डॉ.कल्पना चावला (अंतरिक्ष यात्री)

न्यूट्रीचार्ज बायोएज की जानकारी

Leave a Reply

error: Content is protected !!