Benefits of Champa Flowers:चंपा फूल के फायदे (Types of Champa)

Benefits of Champa Flowers:चंपा फूल के फायदे (चंपा के प्रकार-Types of Champa), Multiple benefits of Champa:चंपा के बहुगुणी फायदे.

नमस्ते दोस्तों, आपने चंपा के फूल या पौधे के बारे में सुना ही होगा लेकिन इसके फायदे आपको पता नहीं होंगे। इस पौधे के फायदे अनगिनत है, पौधा दिखने में बहुत ही अच्छा है, आप यह पौधा घर में लगाकर इसके बहुगुणी फायदे ले सकते हो। उद्यान और घर की शोभा बढ़ाने में चंपा के पौधे और फूल मदत करते है ठीक उसी तरह हमारे हेल्थ की भी शोभा बढ़ाते है। आयुर्वेद ने चंपा के पौधे को मष्तिष्क, हृदय के लिए बहुत ही गुणकारी और सौंदर्यवर्धक वनस्पति कहा है।

Benefits of Champa Flowers:चंपा फूल के फायदे (Types of Champa)

मराठी कवी ‘बी ‘ के कुछ मराठी पंगतियाँ इस तरह है,”चाफा बोलेना, चाफा चालेना, चाफा खंत करी, काही केल्या हलेना ” ऎसा कवी ‘बी’ ने लिखा है। चंपक का पुष्प नाजुक, सुंदर, शांत, कोमल और शीतल रहता है। चंपा का फूल अपने तरफ सभी को आकर्षित करता है। कवी बी ने चंपा के फूल को प्रेम का प्रतिक बना दिया है……

पिवळया धम्मक सोनेरी अंगाचा 

दरवळून टाकतो आसमंत सारा

चंपा के पौधे और पुष्प पिले रंग के होते है, पुष्प बहुत ही खुशबूदार होते है और इस खुशबु से सभी को अपने तरफ मोहित कर देते है।

यह भी पढ़े: Benefits of Champa Flowers 

चंपा के प्रकार | Types of Champa

  1. सफेदचंपा
  2. लालचंपा,
  3. हराचंपा
  4. सोनचंपा
  5. नागचंपा
  6. भुईचंपा
  7. कवठीचंपा

चंपा की प्रजातियां प्राचीन काल से भारत में है। शिलप कौशल में प्राचीन भारतीय चित्रकला में चंपा के पुष्प की कला निकाली है। अजिंठा लेनी के 7 वे हॉल में नाग चंपा की चित्रकला निकाली है और यह चित्रकला विश्व के सुंदर पुष्प में प्रसिद्ध है।

यह भी पढ़े:  Benefits of Champa Flowers 

Multiple benefits of Champa|चंपा के बहुगुणी फायदे 

  • चंपा के पेड़ की साल, जड़, पत्तिया और पुष्प को पिस कर उसका रस निकाले रस के बराबर ही सरसों का तेल और उसके चार पट खोबरा तेल अच्छी तरह मिलाए और आपके लिए तेल तयार होता है, यह तेल हम जोड़ो का दर्द, शरीर दर्द और कमर दर्द के लिए बहुत ही कारकर है।
  • टॉंसिल के लिए चंपा के पेड़ का चिक उपयोगी है।
  • किसी कारण से नाक में मास बढ़ा हो, तो आप चंपा के पुष्प की सुगंध लेते रहिए।
  • चंपा के फूल सूंघने से दिल और दिमाग बलशाली बनता है।
  • किसी व्यक्ति के हात-पैर एटते है, सुन पड़ते है और अकड़ते है आदि के चंपा के तेल से मालिस करे, जो पहले फायदे में बताया गया है।
  • गठिया के लिए चंपा तेल की मालिस करे आपके गठिया दर्द को आराम मिलेगा।
  • दस्त आकर कब्ज के लिए चंपा के पौधे की जड़ का काढ़ा बनाकर पिने से आराम मिलता है और पेठ की बीमारिया दूर होती है।
  • चंपा के साल का चूर्ण बनाकर दिन में तीन बार पानी के साथ 2 चमच लेना चाहिए खून साफ होता है।
  • चंपा के साल को पीस कर दही के साथ लगाने से पिम्पल्स, दागधब्बे दूर होते है।
  •  निम्बू के साथ चंपा के फूलो को पीसकर लगाने से चेहरा फ्रेस दिखता है।

यह भी जरूर पढ़े:

डॉ.विक्रम सराभाई की जीवनी

डॉ. होमी भाभा की जीवनी 

सावित्रीबाई  की जीवनी

क्रिकेटर मिताली राज की जीवनी  

झूलन गोस्वामी की जीवनी 

खेल कूद की जानकारी

थॉमस एडिसन का बल्प आविष्कार

थॉमस एडिसन अनुसंधान कर्ता

गृहीन-एक सुपर वुमन

थॉमस एडिसन  का प्रेरक लेख

बिल्ली रानी की नटखट कहानी 

दादाभाई नौरोजी 

स्वामी दयानन्दसरस्वती 

राजा राममोहन रॉय की जीवनी  

बराक ओबामा का जीवन चरित्र 

मूर्खता 

धीरूभाई अंबानी बिजनेस टायकून 

महात्मा ज्योतिबा फुले की जीवनी 

शब्द 

जीवन  

स्वार्थी मतलबी लोगों से सावधान 

क्रोध

दहेज प्रथा 

स्त्री ही, स्त्री की दुश्मन 

Leave a Reply

error: Content is protected !!