The benefits of eating Orange:संत्री(नारंगी)खाने के लाभ

The benefits of eating Orange:संत्री(नारंगी)खाने के लाभ, संत्री के नाम : Name of santry, संत्री के औषधियुक्त गुण: Medicinal properties of Santry.

The benefits of eating Orange:संत्री(नारंगी)खाने के लाभ

आम को फलों का राजा कहते है और संत्री (नारंगी) को फलों की रानी कहते है। संत्री(नारंगी) फल विश्व के सभी जगह पर कम-ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। भारत में नागपुर-विदर्भ विभाग में संत्री(नारंगी) का उत्पादन ज्यादा होता है। विदर्भ के साथ-साथ गुजरात, आसाम, बंगाल, कर्नाटक और मध्यप्रदेश में बढे पैमाने पर संत्री की खेती की जाती है।

यह भी पढ़े: The benefits of eating Orange 

संत्री के नाम | Name of  santry 

  • संस्कृत – नारंगी
  • हिंदी – नारंगी  The benefits of eating Orange 
  • मराठी -संत्र
  • इंग्लिश – Orange

संत्री में अम्ल, मधुर, ह्रदय, वातनाशक, और अन्नपचन के लिए संत्री में जीवनसत्व ए, बी, सी का प्रमाण रहता है। संत्री में पोटाशियम, मैग्नेशियम, आयरन, कॅल्शियम, फ़ॉस्फ़रस, सोडियम, अंधक, तांबे, प्रोटीन, सायट्रिक एसिड, क्लोरीन आदि का प्रमाण रहता है। इस कारन संत्री गुणकारी फल है। संत्री दो प्रकार के रहते है एक-खट्टा और दूसरा मीठा। संत्री सभी हंगामों में उपलब्ध रहता है।

संत्री का प्रथम मोसम का तोडा – अक्टुंबर ते फरवरी दूसरे मोसम का तोडा- मार्च ते मे माह में लिया जाता है। संत्री के पेड़ की आयु सिमा 22 से 27 साल तक रहती है। एक पेड़ को 1000 ते 1500 संत्री के फल आते है।

यह भी पढ़े: The benefits of eating Orange 

संत्री के औषधियुक्त गुण | Medicinal properties of Santry

  • मानसिक तान, रक्तदाब, हृदयविकार, गर्मी आदि विकारों के लिए संतरा का रस बहुत ही गुणकारी है।
  • विषमज्वर, गोवर, क्षय, काजन्या आदि रोगों के लिए संतरा का रस पिए तो शरीर के विषारी द्रव, पेशाब के जरिये बहार निकलते है। संतरा का रस पिने से स्फूर्ति आती है।
  • गर्भवती महिलाओं ने प्रथम माह से नऊ माह तक संतरा का रस लेना चाहिए , रस पिने से बालक के पेट का विकार और पाचन का विकार दूर होता है।
  • अम्लपित्त, पित्त के कारन मलमल होना, अपचन आदी के लिए संतरा के रस में नमक और मिरि का बारीक़ चूर्ण मिलाकर पीना चाहिए।
  • गर्मी के दीनों में प्यास ज्यादा लगती है, इस लिए संतरा रस की शरबत में शक़्कर मिलाकर पीना चाहिए।
  • खिलाडी, मल्ल, इन्होने एक ग्लास ऱस में थोड़ा शहद मिलाकर पीना चाहिए, यह रस पिने से थकान दूर होती है।
  • संतरा के फाक को छाव में सुकाना चाहिए उसके बाद उसका चूर्ण बनाकर के पानी के साथ पीना चाहिए।
  • Orange का रस और शहद मिलाकर एक बॉटल में रख दो उसके बाद सुबह और शाम दो-दो बूंद आँखों में डालना चाहिए ऐसा करने पर आँखों की खाज आदी विकारों से छुटकारा मिलता है।
  • संतरा के फाक खाने से या रस पिने से मलमल का त्रास कम होता है।
  • Orange के साल में मौजूद आम्ल का उपयोग करते आता है। चेहरे पर साल को घिसने से मुँहासे, डाग-धब्बे, काले-चिट्ठे, ख़रूज, इसब, नायते और त्वचा रोग आदि विकार कम होते है।
  • संतरा के बी का लगदा बनाकर के उसका लेप चेहरे पर लगाने से मुँहासे गायब होते है।

यह भी जरूर पढ़े: 

Sr.No Health Tips ArticlesS.N  Article Name 
 1  धनिया सेवन करने के लाभ 1 गाजर,पपीता,नींबू अचार कैसे बनाए ? 
 2आँवला के लाभ आवला सरबत कैसे बनाए?
 3मुसंबी खाने के लाभ   3धनिया बीज और जीरा सरबत कैसे बनाए ?
 4अनानास खाने के लाभ 4 इमली का पन्ह कैसे बनाए?
 5सीताफल खाने के लाभ   कबुदर और चिठी की कहानी 
 जामुन खाने के लाभ 6 अपनी जीवन शैली का ख्याल कैसे रखे ?
 7कटहल खाने के लाभ  7 ॐ उच्चारण के लाभ
 8नारियल खाने के लाभ  8    जीवन के 10 महत्वपूर्ण प्रश्न 
 9पपीता खाने के लाभ  9  रसोई टिप्स 
 10 केला खाने के लाभ  10 कुदरत का करिष्मा (साधू की कहानी )
 11अमरुद खाने के लाभ  11 अथलेटिक्स खिलाड़ियों की जानकारी 
 12अनार खाने के लाभ  12 Good dot (मिट )
 13 सेब खाने के लाभ  13 Jiyo  Tea
14अंगूर खाने के लाभ  14 सोनपपड़ी की जानकारी 
 15  संत्री खाने के लाभ 15  न्यूट्रीचार्ज वुमन 
 16  खरबूजा खाने के लाभ  16 न्यूट्रीचार्ज मेन 
 17  तरबूज खाने के लाभ  17 हेल्थ गार्ड ऑइल की जानकारी
 18  निम्बू खाने के लाभ  18 न्यूट्रीचार्ज DHA 
 19 जीरा खाने के लाभ 19 न्यूट्रीचार्ज किड्स
 20 मूली खाने के लाभ 20 न्यूट्रीचार्ज स्ट्रॉबेरी प्रोडॉइट

Leave a Reply

error: Content is protected !!