Advantages and disadvantages of coriander seed:धनिया बीज फायदे,नुकसान

Advantages and disadvantages of coriander seed:धनिया बीज फायदे,नुकसान, Iron, Phytonutrient and Flavonoid kaise milta hai?

धनिया शरीर को ऊर्जा प्रदान करने वाली दवा है और हमरे स्वास्थ के लिए बहुत फायदे मंद है।धनिया में एक ए Essential Oil की मात्रा रहती है और इस Essential oil  से Liver के अनावश्य पदार्थ को बाहर निकालता है और भूख की मात्रा बढ़ाता है।

Benefits and disadvantages of consuing coriander seeds

धनिया एंटी-डायबिटिक है क्यों की धनिया के बीज खून के ग्लूकोज के प्रामण को कम करता है। धनिया में Iron, Phytonutrient और Flavonoid तत्व का प्रमाण रहता है और इस तत्व में  Antioxidant पाया जाता है इस के कारण हार्ड अटैक, मधुमेह और कैंसर जैसे बड़ी बीमारी से हमारा बचाव करता है और ख़राब कोलेस्ट्रॉल के प्रमाण को कम करता है। धनिया में विटामिन ए की मात्रा रहती और विटामिन ए की याने की फैट घुलनशील विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट का प्रमाण होता है और इसके कारण हमारी त्वचा, दॄष्टि को स्वस्थ रखते है।

यह भी पढ़े: Advantages and disadvantages of coriander seed

धनिया के फायदे | benefits of coriander

धनिया का उपयोग स्वादिष्ट सब्जी बनाने के लिए किया जाता है।

सब्जी मशालों में सूका धनिया रहता है। हरा धनिया सब्जी में डालने के लिए बहुत ही उपयोगी है।

धनिया त्वचा रोग,खुजली, मुँहासे, चकत्ते, सूजन आदि के लिए धनिया का बीज को उबाले और ठंडा होने के बाद पानी से मुँह धो ले।

धनिया के बीज का चूर्ण, एक चमच हल्दी, एक चमच शहद, मुल्तानी मिट्टी इनका लेप तैयार कीजिये और चेहरे पर लगाईए आपके चेहरे के  पिम्पल्स और तैलीय त्वचा से आराम मिलता है। Advantages and disadvantages of coriander seed

बाल झड़ने की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हो तो आप को अपने हेअर ऑइल में धनिया के बीज का चूर्ण मिलाकर लगाना जरुरी है। बाल झड़ने की समस्या दूर हो जाएगी। Advantages and disadvantages of coriander seed

धनिया पाचनक्रिया साफ रखने में राहत दिलाता है, इसके लिए हमें आधा ग्लास पानी , जीरा, धनिया के पत्ते, चाय पत्ती, शक़्कर, सौंफ और अदरक डालकर उबाले और ठंडा होने पर सेवन करे।

आँखों की जलन और हाथ-पैरों में जलन की समस्या से राहत मिलती है, धनिया का बीज , सौंफ और मिश्री का चूर्ण करे और खाना खाने के बाद 5 ग्राम चूर्ण का सेवन करे।

धनिया में vitamin C बहुत ही महत्वपूर्ण लाभदायक एंटीऑक्सीडेंट है जिसके कारण त्वचा और शरीर स्वस्थ रखता है। धनिया में बहुत लाभकारी विटामिन रहते है जैसे की, फोलिक एसिड, विटामिन ए, बिटा-कैरोटीन आदि।

यह भी पढ़े:

Coriander seed से डायबिटीज(मधुमेह), कोलेस्ट्रॉल की समस्या, आदि विकारों के लिए आपको शाम के समय में एक ग्लास पानी में आधा कप धनिया का बीज डालना है और उसे सुबह उठकर धनिया पानी का सेवन करना चाहिए। धनिया पानी पिने से खून के ग्लूकोज के प्रमाण को कम करता है और स्वस्थ रक्त शर्करा के प्रमाण को कम करने में राहत मिलती है, इसके कारण ख़राब केलेस्ट्रॉल का प्रमाण कम होता है और अच्छे केलेस्ट्रॉल का प्रमाण बढ़ता है। डायबिडीज और उच्च केलेस्ट्रॉल जैसे विकारों से बचने के लिए धनिया पानी का सेवन करना सेहद के लिए बहुत ही लाभकारी है।

धनिया का सेवन खाना खाते समय सलाद जैसे खाए तो, किसी भी प्रकार के बैक्टेरिया के संक्रमण से बचा जा सकता है। धनिया के बीज में डोडेक्नेनल Dodeknenl की उच्च प्रति की मात्रा रहती है, इसलिय बैक्टेरिया को दूर करता है।

धनिया के बीज में एनीमिया को रोकने के लिए लौह की मात्रा रहती है।

यदि आप पीरियड्स की समस्या से परेशान हो तो अपने भोजन में धनिया बीज का उपयोग करते जाना चाहिए। आधा लीटर पानी में 500 ग्राम धनिया बीज उबाले, उसके बाद थोड़ी देर में  छोटे दो चमच शक़्कर डाले कड़ा तैयार होने के बाद कोहमट गरम काढ़ा को दिन में दो बार सेवन करे। धनिया के बीज में कुदरती उत्तेजक शक्ति रहती है इस शक्ति के कारण हार्मोन संतुलित रहते है जिसके कारण पीरियड्स के समय दर्द और ज्यादा रक्तस्त्राव को कम करता है।

आप कंजंक्टिवाइटिस Conjunctivitis (आँख आना), आँखो में जलन होना, सूजन, खुजली आदि विकारों के लिए धनिया बीज का काढ़ा बनाए काढ़ा ठंडा होने पर काढ़े से  दिन में 7 बार आँख-मुँह धो ले। धनिया बीज में  में हाय एंडीऑक्सीटें रहने के कारण हमारे आँखों की समया दूर होती है।

धनिया बीज खाने के नुकसान | Coriander Seed Eating Disadvantages

धनिया बीज का ज्यादा सेवन करने से लिवर की समस्या निर्माण हो सकती है।

चक्कर आना , सास लेने में तकलीफ होना, आदि समस्या से परेशान है तो धनिया बीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी है।

गर्भवती, स्तनपान करनेवाली महिलाओं ने कम मात्रा में धनिया के बीज का सेवन करना चाहिए। धनिया के बीज का असर ग्रंथि स्त्राव पर होता है इस के कारण माता, बालक और प्रजनन ग्रंथि पर असर हो सकता है। धनिया बीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलहा अवश्य ले।

धनिया का बीज का उपयोग सूरज के किरणों के प्रति संवेदनशीलता का कारन बन सकता है। क्यों की त्वचा कैंसर और सनबर्न जैसे विकारों की समया निर्माण हो सकती है। आप सूरज की किरणों से एलर्जी  या संवेदनशीलता से परेशान हो तो धनिया के बीज का सेवन कम करे और सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

आखों में जलन, सूजन, खुजली आदि विकारो से परेशान हो तो धनिया बीज का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

यह भी जरूर पढ़े:
Sr.No Health Tips ArticlesS.N  Article Name 
 1  धनिया सेवन करने के लाभ 1 गाजर,पपीता,नींबू अचार कैसे बनाए ? 
 2आँवला के लाभ आवला सरबत कैसे बनाए?
 3मुसंबी खाने के लाभ   3धनिया बीज और जीरा सरबत कैसे बनाए ?
 4अनानास खाने के लाभ 4 इमली का पन्ह कैसे बनाए?
 5सीताफल खाने के लाभ   कबुदर और चिठी की कहानी 
 जामुन खाने के लाभ 6 अपनी जीवन शैली का ख्याल कैसे रखे ?
 7कटहल खाने के लाभ  7 ॐ उच्चारण के लाभ
 8नारियल खाने के लाभ  8    जीवन के 10 महत्वपूर्ण प्रश्न 
 9पपीता खाने के लाभ  9  रसोई टिप्स 
 10 केला खाने के लाभ  10 कुदरत का करिष्मा (साधू की कहानी )
 11अमरुद खाने के लाभ  11 अथलेटिक्स खिलाड़ियों की जानकारी 
 12अनार खाने के लाभ  12 Good dot (मिट )
 13 सेब खाने के लाभ  13 Jiyo  Tea
14अंगूर खाने के लाभ  14 सोनपपड़ी की जानकारी 
 15  संत्री खाने के लाभ 15  न्यूट्रीचार्ज वुमन 
 16  खरबूजा खाने के लाभ  16 न्यूट्रीचार्ज मेन 
 17  तरबूज खाने के लाभ  17 हेल्थ गार्ड ऑइल की जानकारी
 18  निम्बू खाने के लाभ  18 न्यूट्रीचार्ज DHA 
 19 जीरा खाने के लाभ 19 न्यूट्रीचार्ज किड्स
 20 मूली खाने के लाभ 20 न्यूट्रीचार्ज स्ट्रॉबेरी प्रोडॉइट

Leave a Reply

error: Content is protected !!