Dr.A.P.J Abdul kalam honored with Bharat Ratna डॉ.अब्दुल कलाम राष्ट्रपति

Dr.A.P.J Abdul kalam honored with Bharat डॉ.अब्दुल कलाम राष्ट्रपति,abdul kalam honored with any award, biography in hindi. 

Dr.A.P.J Abdul kalam honored with Bharat Ratna डॉ.अब्दुल कलाम राष्ट्रपति

डॉ.ए.पि.जे अब्दुल कलाम जी को 01मार्च 1998 को  ” भारतरत्न ” से सम्मानित किया गया। 11 और 13 मे  1998 को राजस्थान के पोखरण में अणुबॉम्ब की चाचणी अब्दुल कलाम के मार्गदर्शन में हुई।यह जबाबदारी उस समय के प्रधानमंत्री मा. अटलबिहारी वाजपेयी जी ने सोपि थी। भारत के अंतराल संशोधन, सरंक्षण विभाग संशोधन और भाभा अनुसंशोधन मुंबई यह तीन संस्था चाचणी के लिए सामिल हुए थे।

अमेरिका ने अणुबॉम्ब की चाचणी सफलतापूर्वक नहीं होनी चाहिए इसलिए अमेरिका ने चार उपग्रह घूमते हुए रखे थे लेकिन इस से कोई फरक नहीं पड़ा। चाचणी सफलतापूर्वक हुई और मा. अटलबिहारी वाजपेयी बहुत खुश हुए और बोलने लगे ” भारत यह अब अण्वस्त्र से परिपूर्ण देश हुवा है।

फ्रेंच गृहस्थ कहता है की , भारत ने मिसाइल की चाचणी की इस मिसाइल में एक मिसाइल की क्षमता बिस साल तक बॉम्ब डालते रहेंगे और जो नुकशान होगा उतनी क्षमता एक मिसाइल में है।

यह भी पढ़े:  2020 साल में भारत एक विकसित देश बन जाएगा honored

डॉ कलाम ने उम्र के 68 साल में शासकीय नौकरी से मुक्त होने की इच्छा व्यक्त की लेकिन इस बार भी भारत सरकार ने उन्हें नौकरी से मुक्त नहीं किए।

डॉ.अब्दुल कलाम को भारत सरकार के प्रमुख सल्लागार के पद पर पदोन्नति की उन्हें केंद्रीय मंत्री पद का दर्जा मिला इस पद पर 2001 तक याने की दो साल तक पद पर रहे इस दो सालो में डॉ.अब्दुल कलाम ने राष्ट्र के लिए मिसाइल बनाने के तंत्र ज्ञान में बहुमूल्य कार्य किए उन्होंने ” ब्राह्मोस मिसाइल ” का निर्माण किए यह प्रकल्प डॉ.कलाम ने भारत-रशिया के माध्यम से पूरा किया.

दि 12 जून 2001 को चंदीपुर के चाचणी केंद्र में ” ब्रह्मोस ” मिसाइल की चाचणी सफल हुई।  03 मे 2002 को रशिया के अध्यक्ष मा.ब्लादिमीर पुतीन इस सफल चाचणी पर बहुत खुश हुए। ” ब्रह्मोस ” मिसाइल रशिया के नौदल में सामिल किया गया है। इस मिसाइल की यंत्रणा इलेक्ट्रॉनिक होने के कारन कम्प्यूटर से नियंत्रित किया जा सकता है।

नोव्हेंबर 2001 को डॉ.अब्दुल कलाम ने उम्र के 71 वे साल में अपने इच्छा से भारत सरकार का वैज्ञानिक सल्लागार पद छोड़ दिए और एक लाख छोटे बच्चों को मिलने के लिए और उन्हमें भारत विकसित राष्ट्र बनाना है यह सपना बच्चों में जगाना है इसलिए डॉ अब्दुल कलाम ने विद्यार्थीयों को मिलने का अभियान चालू किया। जून 2002 को विश्व के कुछ देश को मिलने का कार्यक्रम उन्होंने रखता था।

उन्हों ने विश्व में व्याख्यान किय होते तो हमारे भारत देश की प्रतिमा पुरे विश्व में सबसे ऊपर होती लेकिन अब्दुल कलाम जी राष्ट्रपति बन गए।

डॉ.ए.पि.जे अब्दुल कलाम भारत के 11 वे राष्ट्रपति

10 जून 2002 को भारत के राष्ट्रपति के आर नारायण इनका कार्यकाल पूरा होते हुए आ रहा था। मा.अटलबिहारी बाजपेयी इनको अब्दुल कलाम के कार्य के प्रति कर्तुत्व की कल्पना होने के कारन उन्होंने राष्ट्रपति पद के लिए लोकशाही आघाडी के उमेदवार डॉ.अब्दुल कलाम का नाम जाहिर किए। डॉ.अब्दुल कलाम ने उमेदवारी अर्ज भरा और उसकी खबर दि. 13 जून 2002 के पेपर में प्रकाशित हुई।

डॉ.अब्दुल कलाम के उमेदवारी अर्ज पर साठ सूचक और साठ अनुमोदक ने दि. 18 जून 2002 को स्वाक्षरी किय। दि. 19 जून 2002 को उमेदवारी अर्ज अब्दुल कलाम ने दाखल किया। 25 जून 2002 राष्ट्रपति पद के लिए अर्ज करने की आखरी तारीख दि. 26 जून 2002 को अर्ज की छाननी हुई डॉ.कलाम और कॅप्टन श्रीमती सेहगल इनके अर्ज वैध थे।

यह भी पढ़े: मिसाईल मैन के ” मिसाइलों ” की जानकारी

दि. 28 जून 2002 यह उमेदवारी अर्ज पीछे लेने की अंतिम तारीख, अर्ज किसी भी व्यक्ति ने पीछे नहीं लिया और डॉ.कलाम और कॅप्टन सहगल इन दोनों में निवडणूक हुई। DrAPJ Abdul kalam honored with Bharat

दि. 15 जुलाई 2002 को राष्ट्रपति पद के लिए नई दिल्ली में चुनाव हुए। दि.18 जुलाई 2002 को मत गणना हुई। डॉ.अब्दुल कलाम को 89.58 % मत मिलने से उन्हें विजयी घोषित किया। DrAPJ Abdul kalam honored with Bharat

दि.25 जुलाई 2002 को सेन्ट्रल हॉल में डॉ.ए पि जे अब्दुल कलाम ने इंग्रजी में शपथ ली और डॉ.अब्दुल कलाम भारत के 11 वे राष्ट्रपति बने।

डॉ.अब्दुल कलाम अभी तक दस बारा फुट के खोली में रहने वाले कलाम अभी राष्ट्रपति भवन के 345 कमरे , 37 बड़े दालान, गोल्फ का क्रीड़ा मैदान, स्विमिंग पुल , टेनिस और स्क्वॉश खेलने का मैदान, दो सिनेमा हाल , बहुत बड़ा किचन रूम, 350 अधिकारी, 220 सेवक, 165माली, 210 परिसर साफसफाई करने के सेवक सभी डॉ कलाम की सेवा करने में लग गए।

डॉ. ए.पि.जे अब्दुल कलाम भारत के पहिले नागरिक, एक अनमोल भारतरत्न थे।

 motivational articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!