how to control body energy : शरीर की ऊर्जा को कैसे नियंत्रित किया जाए

how to control body energy : शरीर की ऊर्जा को कैसे नियंत्रित किया जाए, flow in body, how to control negative energy in home, your life energy.

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में अगर किसी चीज का सबसे ज्यादा अपव्यय होता है तो वह है ऊर्जा, नतीजा यह होता है व्यक्ति का तनावग्रस्त हो जाना।  तनाव निसंदेह हार्ट प्रॉब्लम, हायपरटेंशन, डिप्रेशन, एन्जायटी का कारण सकता है। मन -मस्तिष्क में भावनाओं का खेल न केवल जागृत अवस्था में बल्कि सोते हुए सपने देखंते  भी चलता रहता है। भावनाएं कई बार थका डालती है, लेकिन ऊर्जावान लोग इस थकावट को अपने पर हावी नहीं होने देते। वे मन को प्रसन्न करने की कला जानते है।

Control energy

एनर्जी क्या है | What is energy

अगर हम एनर्जी कंट्रोल करना सिख ले तो हम हमेशा जिवित दिखाई देंगे। जीवित याने की जीवन से भरपूर जिंदगी का आनंद उठाने के लिए केवल ३० % एनर्जी काफी है मगर मानसिक मजबूती के लिए कम से कम ७० % ऊर्जा की जरूरत होती।

जिंदगी में ऊर्जा बचाने के लिए पलायनवादी होने से काम नहीं चलता। जितनी जिम्मेदारी लेते है। उतने ही ऊर्जावान और रचनात्मक तथा डायनॉमिक बनते है। यह बात अच्छी तरह जान ले ऊर्जावान आप तभी बन सकते है, जब जीवन के प्रति आशावादी दृष्टिकोण रखते हुए अपनी सोच हमेशा पॉजिटिव रखे। जो दबाब को विपरीत स्थितियों को अपने पर हावी न होने देकर उन्हें मैनेज करने के गुण जानता हो। विपरीत स्थितियों में भी जो अपने हास्यबोध को जगाए जानता हो, वह हर तरह की स्थिति को बेहतर तरिके से हैंडल कर सकता है।

ऊर्जा संजोने एक आसान तरीका है संवाद कायम करने की काबिलियत। इस से आपको सोचों से बाहर निकलने में मदद मिल सकती है। कई बार दूसरों से इंटरएक्ट करने से आपको अपनी समस्या के लिए बढ़िया कारगर सुझाव मिल जाते है। सोचों के भंडार व्यर्थ करने से आप बच जाते  है। ऊर्जा का आपकी सोच से सीधा संबंध है।अगर आप अपनी सोच कठोर न रखकर लचीली और आरामदायक बना ले तो आप काफी हद तक तनाव की स्थिति से बचे रह सकते है। इस तरह अपनी ऊर्जा बचा सकते है।

यह भी पढ़े: how to control body energy

सोच रखें सकारात्मक | Keep positive

सकारात्मक सोच आर्ट ऑफ़ लिविंग  आधारभूत तत्व है। कई बार जीवन में सब कुछ उल्टा -पुल्टा होकर बिखर जाता है। बनते काम बिगड़ने लगते है, प्रयास विफल हो जाते है।  ऐसे में सोच को सकारात्मक दिशा  लाया जाए तो बिखराव  स्थिति से निपटा जा सकता है। अपनी कमजोर पड़ती एनर्जी को फिर मजबूती प्रदान की  है। नफरत को प्यार में बदला जा सकता है।

खुश रहना सीखें | Learn how to be happy

खोज से भी यह सिद्ध हो चूका है की जो व्यक्ति खुश रहता है, वह व्यक्ति ज्यादा जीता है व स्वस्थ रहता है।  इस तरह वह जीवन  अंत तक ऊर्जावान बना रहता है। how to control body energy

अपने को व्यस्त रखें अच्छा सोचें, अच्छा बोले, व्यायाम जरूर करे, ज्यादा पानी पिए,जनक फ़ूड से बचे,घूमने जाए, मनपसंद किताबें पढ़े,अपने पसंदीदा सीरियल देखे जोक्स सुने और सुनवाए,कुछ देर संगीत का आनंद ले और दो-चार गाने जरूर गाए। कुछ नया सीखे जैसे नए शब्द,नई भाषा,घर के छोटे मोटे काम करने का भी अपना मजा है।  ये रिलैक्स करते है। how to control body energy

काम को बोझ मानकर न करे, बल्कि उसे एंजॉय करें। आप ईश्वर का बनाया करिश्मा हो। आप में ऊर्जा का अक्षय भंडार है। उसे महसूस करें कुछ सुन्दर यादों को रिवाइंड करके जिए। कोई खूबसूरत नजारा मानस पटल  जीवित करे।  मन काफी हद तक शरीर को कंट्रोल करता है। यह आपका पॉवर एंजिन है। इसे बंद  पड़ने दे।  ऊर्जा जीवनसूचक है। यह आपके जिंदा रहने का प्रमाण है इस पर अपना कंट्रोल रखे। इसे संजोकर रखें। जीने का मजा इसी मे है।

यह भी जरुर पढ़े:
केंद्र सरकार पुलिस विभाग की जानकारी

महाराष्ट्र पुलिस विभाग की जानकारी

जून, माह की दिनविशेष जानकारी

अप्रेल, माह की दिनविशेष जानकारी

मई, माह की दिनविशेष जानकारी

गोपाल गणेश आगरकर की जीवनी

एथलेनटिक्स खिलाडियों की जानकारी

पीटी.उषा की जानकारी

खेल कूद की जानकारी

खासबा जाधव की जीवनी

 भारत्तोलक कर्णम मल्लेश्वरी की जीवनी

निशानेबाज राज्यवर्धन सिंग राठोर जिवनी

वीरेंद्र सिंग जीवनी

मुष्टियोधा एम.सी मेरिकोम जीवनदर्शन 

भारतीय नेमबाज गगन सारंग जीवनदर्शन 

 खिलाडी अभिनव बिंद्रा जीवनी

भारतीय बैडमिन्टन पटु सायना नेहवाल 

टेनिस खिलाडी लिएंडर पेस जीवनी

क्रिकेटर मिताली राज का जीवनदर्शन 

झूलन गोस्वामी की जीवनी

 

Leave a Reply

error: Content is protected !!