strength of unity story : एकता की ताकत (strength of unity in hindi)

strength of unity story : एकता की ताकत (strength of unity in hindi), meaning of unity gives strength, unity of strength explanation.

strength of unity story : एकता की ताकत (strength of unity in hindi)

अकेला इंसान किसी काम को करने लगे तो उसे बहुत समय लगता है। लेकिन वही काम Group में मिलजुलकर काम करे तो कोई भी काम बहुत ही जल्द अच्छे से पूर्ण होता है। किसी गाँव में भागवत सप्ताह चल रहा था। एक दुसरे की कैसी मदद करते है, इसपर एक महाराज जी बहोत ही सुंदर उदाहरण दे देकर लोगों को जागृत कर रहे थे।

प्रवचन की एक कहानी union

किसी गाँव में ०३ भाई थे। उन्हें नदी पार कर के दूसरे गाँव जाना था। लेकिन उन तीनों भाइयों में आपस में बिलकुल भी नही पटता था। नदी पार करनी ही थी।  किंतु तिन्हों के पास नदी पार करने के लिये पैसे नही थे। अब तिन्हों भाई क्या करते? तिन्हों भाइयों को एक-एक काम आता था। एक भाई को नाव चलाने आती थी। दूसरे भाई को नाव को दिशा की अनुसार टर्न करते आती थी। और तीसरे भाई को उसका balance बनाते आता था। काम पूर्ण करना तिन्हों के लिए बहुत ही मत्वपूर्ण था। इसलिये तिन्हों को आपस में समजोता करके एकदूसरे की सहाय्यता लेकर नाव को चलाये और नदी के दूसरे किनारे पर पहुँच कर अपना कार्य पूर्ण किया। strength of unity story

यह भी पढ़े: strength of unity story 

सिख 

एक बार द्वेष को अपने मन से निकालो और सभी साथ मिलकर काम करो तो कामयाबी अपने आप कदम चूमती है। यह कहानी महाराज जी ने लोगों को बताए ताकी लोगो में एकता की भावना निर्माण होनी चाहिए।

लेकिन ‘रात बीती तो बात बीती,ऐसा ही कुछ माहोल महाराजजी को सुबह दिखाई दिया। गाँव के कुछ ८-१० लोग आपस में लढ रहे थे। महाराजजी गए और झगड़े को शांत किए।महाराजजी बोले – जब आप किसी की बात सुनकर समझकर उसे अपनी जिंदगी में लाना ही नही चाहिए,तो ऐसे भागवत सप्ताह रख कर महाराज को बुलाकर क्यों अपना और हमारा समय बेकार जाने देते हो। यदि कोई आपको अछि बाते बताते है ,तो वह आपने सुनना चाहिए। न की उसे टाइमपास करने का रास्ता समझकर सिर्फ उतने ही समयतक ध्यान से सुने और फिर ‘जैसे थे वैसे ही ‘ रहे। ऐसा कहके महाराज निरास होकर उस गाँव से चले गए।

समाज में आज भी ऐसी ही स्थिति है। एक दूसरे के प्रति द्वेष रखना और उसे पीछे लाने में ही अपनी धन्यता समझते है। ऐसी स्थिति हमे स्कुल कॉलेज में भी बहुत दिखाई देती है।

यह भी जरूर पढ़े:

अल्फ्रेड नोबेल जीवन चरित्र 

रविंद्रनाथ टैगोर जीवन चरित्र 

डॉ.सी.व्ही रामन जीवन चरित्र

डॉ.हरगोविंद खुराना जीवन चरित्र

डॉ.मदर तेरेसा जीवन चरित्र 

डॉ,अमर्त्य सेन जीवन चरित्र

डॉ.व्ही.एस. नॉयपॉल जीवन चरित्र

डॉ.राजेंद्र कुमार पंचोरी 

डॉ.व्यंकटरामण रामकृष्णन जीवन चरित्र 

मई माह की दिनविशेष जानकारी

भारत के राष्ट्रपति,उपराष्ट्रपति, उपमुख्यमंत्री

संविधान के निर्दिष्टीकरण की जानकारी  

भारत का उप-राष्ट्रपति

भारत का राष्ट्रपति

जानकारी मेरे भारत की 

शिवजी महाराज की विजय गाथा

भारतीय संविधान की जानकारी   

भारतीय संविधान के स्वरूप    

संत ज्ञानेश्वर 

Leave a Reply

error: Content is protected !!