Create a future in textile designing | टेक्सटाइल डिजाइनिंग में भविष्य बनाएं

Create a future in textile designing : टेक्सटाइल डिजाइनिंग में भविष्य बनाएं?, टेक्सटाइल डिजाइनिंग में करियर / भविष्य कैसे बनाएं?: textile designing me career / future kaise banaye?

टेक्सटाइल डिजाइनिंग के क्षेत्र में बहुत नवाचार है, खासकर उन युवाओं के लिए जो रचनात्मक सोच के माध्यम से नवाचार करना चाहते हैं. फैशन की दुनिया में भारत की पहचान बहुत तेज हो गई है. न केवल फैशन डिजाइनर, बल्कि टेक्सटाइल डिजाइनिंग का क्षेत्र भी, जो फैशन उद्योग का एक हिस्सा है, जिसने तेजी से प्रगति की है. यह क्षेत्र अपने आप में रचनात्मक है. आधुनिक प्रौद्योगिकी के कारण ऐसे सॉफ्टवेयर उपलब्ध हो गए हैं जिनके माध्यम से टेक्सटाइल डिजाइनिंग में वृद्धि हुई है. फैब्रिक डिजाइनर ज्यादातर कढ़ाई डिजाइन, प्रिंट, लहरों और बनावट पर काम करते हैं.

Create a future in textile designing | टेक्सटाइल डिजाइनिंग में भविष्य बनाएं career / future, kaise banaye

भारतीय कपड़ा उद्योग को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ के बीच मान्यता प्राप्त है. कुछ साल पहले तक, उद्योग अच्छी तरह से ज्ञात नहीं था, लेकिन 1991 में आर्थिक उदारीकरण के बाद, इसका पूरा परिदृश्य बदलने लगा. धीरे-धीरे कपड़ा उद्योग ने गति पकड़ना शुरू किया और आज भारत की विश्व में एक अलग पहचान है। भारत में कपड़ा उद्योग मुख्य रूप से कपड़ा निर्माण और निर्यात पर आधारित है, जिसके कारण यह देश की अर्थव्यवस्था में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है.

यह भी पढ़े: career / future

टेक्सटाइल डिजाइनिंग की खास बातें: 

टेक्सटाइल डिजाइनिंग एक ऐसा कोर्स है जिसने युवाओं के दिमाग में बहुत जगह हासिल कर ली है. इसके माध्यम से, आप फैशन की दुनिया में एक महान भविष्य बना सकते हैं. देश, विदेश में काम कर सकते हैं. कपड़ा डिजाइनर को एक फैशन डिजाइनर की तरह काम करना पड़ता है. कपड़े पर उनकी रचनात्मकता के साथ विभिन्न डिजाइन प्रस्तुत करना पड़ता हैं. career / future

भारत के सबसे पुराने उद्योगों में से एक, कपड़ा उद्योग पहले केवल कपड़े उत्पादन तक ही सीमित था, लेकिन अब नई तकनीक के आने से यह तेजी से विकसित हुआ है. अब यह उद्योग कई श्रेणियों में काम कर रहा है जैसे अनुसंधान, विकास, विनिर्माण और बिक्री साथ ही, इसमें नौकरी के अवसर अब पहले की तुलना में तेजी से बढ़ रहे हैं. यदि आप कपड़ा डिजाइनिंग या प्रोडक्शन में रुचि रखते हैं, तो आप टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी में अपना भविष्य बना सकते हैं. career / future kaise banaye

टेक्सटाइल डिजाइनिंग परिभाषा | Textile Designing Definition  

वस्त्रों के उत्पादन, प्रसंस्करण और डिजाइनिंग के अध्ययन को टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी या टेक्सटाइल इंजीनियरिंग कहा जाता है. इस क्षेत्र में, वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग सिद्धांतों के साथ, फाइबर, वस्त्र और सब कुछ में परिधान का डिजाइन और प्रक्रिया नियंत्रण शामिल है. इसमें प्राकृतिक और मानव निर्मित सामग्री, सुरक्षा, ऊर्जा संरक्षण, अपशिष्ट और प्रदूषण नियंत्रण का ध्यान रखा जाता है.

कौशल | Skills 

  • बेहतर संचार कौशल (Better communication skills)
  • कंप्यूटर कौशल (Computer skills) career / future kaise banaye
  • विश्लेषणात्मक कौशल और समस्या को सुलझाने के कौशल (Analytical Skills and Problem Solving Skills)
  • तार्किक सोच और रचनात्मकता (Logical thinking and creativity) इस तरह से आप ‘Create a future in textile designing’

यह भी पढ़े: kaise banaye

शैक्षणिक योग्यता | Educational Qualification 

  • टेक्सटाइल डिजाइनिंग के लिए 10+2 वी पास होना चाहिए.
  • स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों में प्रवेश 10+2 के बाद दिया जाता है और स्नातकोत्तर स्तर के पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाता है।
  • कई डिप्लोमा और उन्नत डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी हैं जो स्नातक होने के बाद किए जा सकते हैं. हालाँकि इसके लिए कोई धारा निर्धारित नहीं की गई है. kaise banaye
  • कपड़ा डिजाइनिंग से संबंधित स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए छात्रों को प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी चाहिए
  • कई संस्थान ऐसे भी हैं, जो मेरिट या इंटरव्यू के अनुसार अपना नामांकन करते हैं.
  • उदाहरण के लिए, NIFT में प्रवेश के लिए छात्रों को प्रवेश परीक्षा में बैठना होता है. इसके फॉर्म नवंबर और दिसंबर में निकलते हैं और परीक्षा फरवरी के पहले सप्ताह में आयोजित की जाती है. परिणाम मार्च के मध्य में घोषित किए जाते हैं और साक्षात्कार और जीडी अप्रैल-मई में आयोजित किए जाते हैं. परीक्षा तीन चरणों (गेट, कैट, सिचुएशन एग्जामिनेशन) में आयोजित की जाती है.

टेक्सटाइल डिजाइनिंग कोर्स | Textile Designing Course

  • इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए इंटर में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स या बायोलॉजी जरुरी है.
  • टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी में बीई या बीटेक (BE or B.Tech in Textile Technology)
  • BA in Textile Designing
  • टेक्सटाइल डिजाइन में बीएससी (BSc in Textile Design)
  • डिजाइन के स्नातक (Bachelor of Design)
  • टेक्सटाइल निर्माता में डिप्लोमा (Diploma In Textile Manufacturer)
  • टेक्सटाइल केमिस्ट्री में बीटेक (B.Tech in Textile Chemistry)
  • आप एडवांस्ड डिप्लोमा, एमई, एमटेक और फिर पीएचडी (You get Advanced Diploma, ME, MTech and then PhD)

यह भी पढ़े:

टेक्सटाइल डिजाइनिंग में जॉब | Where to do a textile designing job
  • कपड़े की मिल (textile mills)
  • निर्यात घर (Export house)
  • बुना हुआ कपड़ा विनिर्माण इकाइयों (Knitwear Manufacturing Units)
  • कपड़ा रंगाई और छपाई इकाइयाँ (Textile dyeing and printing units)
  • रेशम, हथकरघा, जूट, खादी, शिल्प विकास संस्थानों में काम कर सकते हैं.
  • फैशन रिटेल डिज़ाइन स्टूडियो और बिग टेक्सटाइल इंडस्ट्री (Fashion Retail Design Studio and Big Textile Industry)
सैलरी | Salary
  • एक फ्रेशर इंजीनियरिंग ग्रेजुएट को 15 हजार से 32 हजार रुपये वेतन मिलता है.
  • अनुभवी उम्मीदवारों का वेतन 60 हजार से 80 हजार रुपये तक है.
टेक्सटाइल डिजाइनिंग संस्थान | Textile Designing Institute 
  • आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi)
  • गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी, सेरामपुर(Government College of Engineering and Textile Technology, Serampore)
  • उत्तरप्रदेश टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट, कानपुर (Uttar Pradesh Textile Technology Institute, Kanpur)
  • डॉ बीआर अंबेडकर नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जालंधर (Dr. BR Ambedkar National Institute of Technology, Jalandhar)
  • पानीपत इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, पानीपत (Panipat Institute of Engineering and Technology, Panipat)
  • इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन डिजाइन, कल्याण (International Institute of Fashion Design, Kalyan)
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली (National Institute of Fashion Technology, New Delhi)
  • एलडी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, अहमदाबाद (LD College of Engineering, Ahmedabad)
यह भी पढ़े :

Postscript: अनुलेख

Post Name: टेक्सटाइल डिजाइनिंग में भविष्य बनाएं (Create a future in textile designing)

Description: वस्त्रों के उत्पादन, प्रसंस्करण और डिजाइनिंग के अध्ययन को टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी या टेक्सटाइल इंजीनियरिंग कहा जाता है. इस क्षेत्र में, वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग सिद्धांतों के साथ, फाइबर, वस्त्र और सब कुछ में परिधान का डिजाइन और प्रक्रिया नियंत्रण शामिल है

Author: प्रतिभा

Tags: Create a future in textile designing, टेक्सटाइल डिजाइनिंग की जानकारी, टेक्सटाइल डिजाइनिंग कोर्स.

Leave a Reply

error: Content is protected !!